गाय की कहानी | Cow story in Hindi

Share This

Cow Story In Hindi | जादुई गाय

Cow Story In Hindi


COW STORY IN HINDI 

एक समय की बात है, 1 शहर में एक भंगार वाला अपने परिवार के साथ रहा करता था। वे सभी एक दूसरे से बहुत प्यार करते थे। भंगार वाला रोज शहर के गली गली में जाकर टूटे-फूटे पुराने सामान खरीदता था और उसे बड़े भंगार की दुकान में बेचा करता था।

इससे जो आमदनी होती उसी में सभी खुश थे। रोज की तरह भंगार वाला भंगार लेने निकल पड़ा। अभी वह थोड़ी दूर ही गया था, कि उसने देखा रास्ते में एक कार वाले ने गाय को ठोकर मार दी है, जिससे गाय के पैर में चोट लग गई थी।

रास्ते में आने जाने वाले लोग उस गाय को देख रहे थे पर कोई भी उस गाय की मदद करने के लिए आगे नहीं आ रहा था।

भंगार वाले से रहा नहीं गया। वह अपना ठेला लिए दौड़ते हुए गाय के पास जाकर आसपास के लोगों से मदद लेकर उस गाय को जानवरों के डॉक्टर के पास ले जाता है।

डॉक्टर ने भंगार वाले को बताया, कि उस गाय के पैर की हड्डी टूट गई है | इसलिए गाय को चलने में अभी टाइम लगेगा।

भंगार वाले के पास जितने पैसे थे, वह डॉक्टर को देकर गाय को अपने घर ले आता है। भंगार वाले के साथ साथ उसकी पत्नी मीनू भी गाय की अच्छे से सेवा करते थे | इस वजह से गाय बहुत जल्दी ठीक हो कर चलने भी लगी थी। यह देखकर भंगार वाला और मीनू बहुत खुश हुए।

इधर गाय का मालिक गाय को ढूंढते हुए भंगार वाले के घर पहुंच जाता है। गाय का मालिक अपनी गाय को देखकर बहुत खुश हो जाता है। गाय का मालिक, भंगार वाले को गाय की सेवा करने के बदले में कुछ इनाम देना चाहता था पर भंगार वाले ने लेने से मना कर देता है।

इस पर गाय का मालिक उसे सिर्फ थैंक यू बोल कर गाय को लेकर अपने घर वापस चला जाता है। अब भंगार वाला भी रोज की तरह फिर से भंगार लेने जाता और उसे बेच कर घर वापस आता था पर अचानक ही भंगार वाले की तबीयत बिगड़ जाती है और उसकी मृत्यु हो जाती है।

अब घर की पूरी जिम्मेदारी मीनू के ऊपर आ जाती है। अब वह भी अपने पति की तरह शहर के गली गली में जाकर भंगार का धंधा करना शुरू कर देती है।

इस तरह वह अपने घर की भागदौड़ तो संभाल ली थी पर मीनू और उसका बेटा दोनों भंगार वाले को बहुत मिस किया करते थे।

एक दिन मीनू भांगर लेने घर से निकलती है पर आज किसी ने उसे भंगार नहीं दिया वो हतास हो कर नदी के किनारे बैठ जाती है, तभी वहीं गाय उसके पास आ कर खड़ी हो जाती है।

गाय को देखकर मीनू पुराने दिन याद कर के रोने लगती है। तभी गाय एक देवी का रूप लेकर मीनू से कहती है। मीनू मै तेरे और तेरे पति की सेवा से खुश हुई, बोल तुझे क्या चाहिए ? मै एक wish पूरी करूंगी। तेरी गरीबी हमेशा के लिए दूर कर दू?

फिर मीनू गाय से अपने पति को ज़िंदा करने के लिए बोलती है। गाय उसकी wish पूरी कर देती है । भंगार वाले को फिर से वापस ज़िंदा देख कर मीनू और उसका परिवार बहुत खुश  हो जाते हैं।

शिक्षा – इस कहानी ( Cow Story In Hindi ) से हमें यह शिक्षा मिलती है, कि परिवार से बड़ा कुछ नहीं होता। मम्मी पापा भाई बहन सभी से मिलकर रहना चाहिए। हमें सभी चीजे दोबारा मिल जाएंगी पर मम्मी पापा कभी दोबारा नहीं मिलेंगे।

नीचे दिए गए लिंक के जरिए जादुई गाय की एक और कहानी का आनंद ले सकते हैं।

Read More Stories :-

Check Out Our Other Websites :- Logicalfact


Share This

Leave a Comment