बंदर और बिल्ली – Bandar Aur Billi Ki Kahani

0
9
Bandar Aur Billi Ki Kahani

Bandar Aur Billi Ki Kahani:- बहुत समय पहले की बात है, एक गांव में दो बिल्लियां रहा करती थी| एक का नाम था गोरी और दूसरी का नाम था भूरी| दोनों एक दूसरे के साथ ही रहते थे और एक दूसरे के साथ ही खेलते थे|

एक दिन के बात है उन्हें बहुत जोर की भूख लगी थी, तो वह दोनों तय करते हैं कि वह साथ में ही खाना ढूंढ लेंगे| खाना खोजने के लिए वह एक घर के पास आते हैं जिसकी खिड़की खुली हुई रहती है और उस खिड़की की मदद से दोनों उस घर के किचन में घुस जाते हैं| दोनों मिलकर किचन में बहुत खोजते हैं पर उन्हें खाने को कुछ नहीं मिलता और गलती से उनसे एक मटका भी टूट जाता है जिसकी आवाज से घर में सो रहा बुजुर्ग जाग जाता है और वह दोनों बिल्ली को डरा धमका के वहां से भगा देता है| दोनों बिल्लियां बहुत निराश हो जाती है क्योंकि उन्हें बहुत भूख लग रही थी और इतनी मेहनत के बाद भी उन्हें खाने को कुछ नहीं मिला|

थोड़ा आगे जाने पर उन्हें एक और घर मिलता है जो कि सुना था यानी कि उस घर में कोई नहीं था| मौका देखकर दोनों बिल्ली उस घर के किचन में घुस जाते हैं और बहुत खोजबीन करने के बाद मुश्किल से उन्हें एक रोटी मिलती है| वे रोटी को घर के बाहर लेकर आते हैं| अब क्योंकि दोनों बहुत भूखे थे तो दोनों इस बात पर झगड़ पडते है कि वह रोटी कौन खाएगा? गोरी कहती है कि उसकी नजर पहले उस रोटी पर पड़ी थी तो रोटी वह खाएगी और भूरी कहती है कि रोटी चुराकर वह लाई है तो रोटी वह खाएगी| दोनों में हाथापाई शुरू हो जाती है।दोनों बिल्लियों की इस हरकत को पेड़ पर बैठा बंदर देख रहा था| बंदर बहुत लालची और भूखा था और उसके मन में उस रोटी को खाने की लालच थी|

बंदर दोनों बिल्लियों के पास जाता है और उनका झगड़ा रोककर उन्हें कहता है कि वह उनकी रोटी को दो बराबर भागों में बांट देगा और वह दोनों आधा-आधा उसे खा लेना| बिल्लियां बंदर की बात मान जाती है और बंदर उस रोटी को दो टुकड़े में बांट देता है| अब बंदर कहता है कि एक टुकड़ा उसे ज्यादा बड़ा लग रहा है और उसे दूसरे टुकड़े के बराबर करने के लिए वह उसे थोड़ा सा खा जाता है| उसके बाद वह फिर कहता है कि अभी भी उसे दोनों टुकड़े बराबर नहीं लग रहे हैं और फिर उसे बराबर करने के लिए वह थोड़ा-थोड़ा रोटी खाता रहता है| बिल्लियों को कुछ समझ नहीं आता और ऐसा ही करके बंदर पूरी रोटी खा कर वहां से भाग जाता है और बेचारी बिल्लियां अपनी बेवकूफी की वजह से भूखी ही रह जाती है|

शिक्षा:- इस Bandar Aur Billi Ki Kahani से हमें यह शिक्षा मिलती है , कि लड़ाई करने के बजाय हमें किसी भी मुसीबत का हल निकालने की सोचना चाहिए , नहीं तो कोई भी बाहरी इंसान आकर हमारा नुकसान करके चला जाएगा|


Read More :-


Paheliyaninhindi ON Facebook

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here